CSC (सीएससी) Full Form & Meaning In Hindi

 

CSC (सीएससी) का फुल फॉर्म या मतलब Common Service Centres (कॉमन सर्विस सेंटर्स) होता है।

सीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में सर्व सेवा केंद्र होता है।

कॉमन सर्विस सेंटर्स डिजिटल इंडिया मूवमेंट को साकार करने के उद्देश्य से बनाया गया अति महत्वपूर्ण सेंटर है, जो बहुत सारे एसेंशियल पब्लिक यूटिलिटी सर्विस को देश के रूरल और दूरदराज के उन जगहों पर मुहैया करवाता है, जहां आज भी इंटरनेट और कंप्यूटर की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है।

भारत सरकार की तरफ से आज बहुत सारी इ-सेवाएं आम लोगों के लिए दी जा रही है, लेकिन आज भी भारत के कई ऐसे गांव और कस्बे हैं, जहां इंटरनेट की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है, तो वहां कॉमन सर्विस सेंटर लोगों को भारत सरकार की तरफ से दी जाने वाली, सभी e-service सेवाओं को प्रदान कर रहे हैं।

CSC ka full form

कॉमन सर्विस सेंटर्स को इस तरह से प्लान किया गया है, कि वह एक ही जगह पर बहुत सारे जरूरी सेवाओं को लोगों तक पहुंचा सके।

सीएससी की शुरुआत भारत सरकार द्वारा 2006 में नेशनल ई गवर्नेंस प्लान के तहत की गई थी, और इस जरूरी सेवा को सही तरह से मैनेज करने के लिए सीएससी e-governance सर्विसेज इंडिया लिमिटेड की स्थापना 16 जुलाई 2009 को की गई।

सीएससी यानि कॉमन सर्विस सेंटर पूरे देश में एक समान काम करता है, और किसी राज्य या क्षेत्र के भगौलिक, सांस्कृतिक और भाषाई विविधता से इस पर कोई फर्क नहीं पड़ता है।

और यह भारत सरकार के सामाजिक, आर्थिक और डिजिटल रूप से समावेशी देश के उदेश्य को, सक्षम बनाता है।

2020 में जब कोरोना के कारण लोग काफी परेशान थे, तब कॉमन सर्विस सेंटर्स ने सरकार की कई वेलफेयर स्कीम्स को लोगों तक पहुंचाने में काफी मदद की।

कुछ प्रमुख एसेंशियल पब्लिक यूटिलिटी सर्विसेज जो सीएसी द्वारा लोगों तक आसानी से पहुंच रहा है, यह सब है-

  • सोशल वेलफेयर स्कीम
  • फाइनेंसियल
  • एग्रीकल्चरल सर्विसेज
  • एजुकेशनल सर्विसेज
  • मोबाइल रिलेटेड सर्विसेज
  • हेल्थ केयर सर्विसेज
  • इंसुरेंस

CSC (सीएससी) के उद्देश्य

सीएससी शुरू करने का भारत सरकार का उद्देश्य पूरे देश में किसी सेवा को समान रूप से लागू करना है

कुछ अन्य प्रमुख उद्देश्यों की बात करें तो यह सब है-

  • पब्लिक सर्विसेज को लोगों तक सही ढंग से पहुंचाना
  • लोगों तक जरूरी इंफॉर्मेशन पहुंचाना
  • लोगों को digitalization से जोड़ना
  • रूरल एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए जरूरी कदम उठाना
  • लोगों तक स्किल अपग्रेडेशन और क्वालिटी एजुकेशन को पहुंचाना
  • लोगों तक हेल्थ सर्विसेस इंफॉर्मेशन को पहुंचाना
Also Read  What is the full form of TMKC meaning, and definition 

सीएससी के प्रमुख काम

आज किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर पर बहुत सारे सेवाओं को प्रदान किया जाता है, जिनमें से कुछ प्रमुख निम्न है-

गवर्नमेंट टू सिटीजन (G2C)-

आम लोगों के लिए भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा चलाए जाने वाले कई तरह की सेवाओं को, डिजिटल माध्यम से लोगों तक पहुंचाना CSC का महत्वपूर्ण काम है।

B2C यानी बिजनेस टू कस्टमर सेवा का लाभ भी सीएससी पर उठाया जा सकता है।

भारत बिल पे-

भारत बिल पे सीएससी पर उपलब्ध महत्वपूर्ण सेवाओं में से एक है, जिसका उपयोग कर कोई भी व्यक्ति अपने किसी तरह के बिल का भुगतान कर सकते हैं, चाहे इलेक्ट्रिसिटी बिल हो, मोबाइल रिचार्ज हो, मोबाइल बिल पेमेंट हो, ब्रॉडबैंड एंड लैंडलाइन बिल पेमेंट हो, डीटीएच रिचार्ज हो, गैस बिल हो, वाटर बिल हो, सब कुछ एक ही जगह से सुरक्षित और भरोसेमंद ढंग से किया जा सकता है।

पासपोर्ट सेवा-

भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ़ एक्सटर्नल अफेयर्स ने सीएससी के साथ पार्टनरशिप किया है, जिसके तहत आम लोग सीएससी सेंटर से ही पासपोर्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं, फीस का पेमेंट और अपने अपॉइंटमेंट को schedule कर सकते हैं।
यह एक अति महत्वपूर्ण सेवा है, जिसके लिए अब आप लोगों को किसी बड़े शहर में जाने की जरूरत नहीं है।

पैन कार्ड सेवा-

सीएससी सेंटर के माध्यम से कोई भी व्यक्ति नए पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं, या अपने पुराने पैन कार्ड में किसी तरह के बदलाव के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

फास्टैग सेवाएं-

2020 से ही सभी तरह के चार पहिया वाहनों के लिए फास्ट टैग का प्रयोग करना अनिवार्य कर दिया गया है।
कॉमन सर्विस सेंटर पर फास्ट टैग प्राप्त किया जा सकता है, जिसके माध्यम से किसी भी हाईवे पर टोल का पेमेंट अपने आप होता रहेगा।

जॉब एप्लीकेशन सर्विसेज-

कई तरह की सरकारी और प्राइवेट नौकरियों के लिए लोग सीएससी के माध्यम से अप्लाई कर सकते हैं साथ में गांव में काम करने वाले लोग अपना मनरेगा कार्ड भी सीएससी के माध्यम से बना सकते हैं।

Also Read  What is the full form of ABIE meaning, and definition 

कृषि से जुड़ी सेवाएं-

कृषि से जुड़ी कई तरह की सेवाओं का लाभ भी सीएससी पर उठाया जा सकता है जैसे कि अपनी फसल को बेचने के लिए जरूरी प्रबंध करवाना फसल का सही दाम जानना भूमि हेल्थ कार्ड बनवाना मौसम की सही जानकारी प्राप्त करना आदि।

इंश्योरेंस सेवाएं-

सभी तरह की गलती इंश्योरेंस सेवाओं का लाभ भी कॉमन सर्विस सेंटर पर उठाया जा सकता है
चाहे नया बीमा लेना हो या अपने बीमा की प्रीमियम का पेमेंट करना हो सब कुछ आसानी से सीएससी पर हो जाता है।

किसानों को अपने फसलों का बीमा कराने के लिए भी अब कहीं और जाने की जरूरत नहीं होती है और किसान फसल बीमा योजना का लाभ भी सीएससी पर ही ले पाते हैं

इलेक्शन कमिशन सर्विसेज-

इलेक्शन कमिशन से जुड़ी कई तरह की सेवाएं जैसे कि वोटर लिस्ट में नाम जोड़ना या अपने वोटर आईडी में कोई सुधार करवाना आदि सेवाओं का लाभ भी सीएससी पर लिया जा सकता है।

ट्रैवल बुकिंग सर्विसेज-

अलग-अलग तरह की ट्रैवल बुकिंग जैसे कि बस टिकट ट्रेन टिकट हवाई जहाज टिकट की बुकिंग भी सीएससी से की जा सकती है।

CSC ka kaam
CSC ka kaam

कोई व्यक्ति कैसे नया सीएससी खोल सकता है?

कोई भी इच्छुक व्यक्ति जिसने कम से कम 10 वीं तक की पढ़ाई की है, और जिसे कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज हासिल है, नए सीएससी के लिए VLE लिए यानी विलेज लेबल entrepreneur के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन के लिए आपको नीचे बताए गए लिंक पर क्लिक करना होगा-

register.csc.gov.in

नया CSC (सीएससी) खोलने के लिए कम से कम 200 स्क्वायर फीट की जगह की जरूरत होती है और एक अच्छे कंफीग्रेशन के साथ कंप्यूटर जिसमें इंटरनेट कनेक्टिविटी हो।

सीएससी खोलकर कोई व्यक्ति खुद के लिए रोजगार हासिल कर सकता है और अपने आसपास के लोगों को भी इस डिजिटल माध्यम से बहुत सारी जरूरी सेवाओं को मुहैया करवा सकता है।

भारत सरकार का लक्ष्य है कि हर पंचायत में कम से कम एक कॉमन सर्विस सेंटर जरूर हो और आगे चलकर इसे हर गांव के स्तर पर खोलना है।

CSC (सीएससी) के बारे में कुछ इंटरेस्टिंग बातें

  • आज पूरे भारत में ढाई लाख से ज्यादा कॉमन सर्विस सेंटर काम कर रहे हैं
  • आज बहुत सारे सीएससी बैंकिंग सेवाएं भी प्रदान कर रहे हैं

 

Sharing Is Caring:

Leave a Comment